Skip to main content of main site

‘दहशत से है हाहाकार, तीन साल जुमला सरकार’

दहशत से है हाहाकार, तीन साल जुमला सरकार
 
बीजेपी सरकार ने पिछले तीन साल में देश का सामाजिक माहौल ख़राब किया 
 
 
देश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार को तीन साल हो गए हैं और पिछले तीन साल में देश को सिर्फ़ जुमला सरकार ही मिली है। पिछले तीन साल में देश का सामाजिक माहौल ख़राब हुआ है और जनता के बीच में जाति-धर्म के नाम पर नफ़रत फ़ैलाई गई है। दलितों और अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित किया गया है तो वहीं गौरक्षा के नाम पर देश में गुंडागर्दी फैलाई गई है। हक़ीक़त यह है कि पिछले तीन साल में भारतीय जनता पार्टी की सरकार अपने वादे पूरे करने में पूरी तरह से फ़ेल साबित हुई है।
 
पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रैस कॉंफ्रैंस में बोलते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि पिछले तीन साल में देश में सिर्फ़ दहशत से हाहाकार मचा है और देश को सिर्फ़ जुमला सरकार मिली है। चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी ने वादा किया था कि वो सबका साथ और सबका विकास के फॉर्मूले पर काम करेगी लेकिन हक़ीक़त यह है कि पिछले तीन साल में देश का सामाजिक तानाबाना बेहद ख़राब हुआ है।
 
भारतीय जनता पार्टी के पिछले तीन साल के शासनकाल में देश में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं, अल्पसंख्यकों को प्रताड़ित किया जा रहा है और गौरक्षा के नाम पर देश में गुंडागर्दी चल रही है। सड़क चलते किसी भी आम इंसान को भाजपा और उससे जुड़े संगठनों के कार्यकर्ता पीटने लगते हैं। उत्तर प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वॉड के नाम पर राह चलते बाप-बेटी और भाई-बहन को ना केवल परेशान किया जाता है बल्कि उन्हें पीटा भी जाता है। देश में एक नफ़रत का माहौल बनाया हुआ है ताकि असल काम पर ना कोई बात कर पाए और ना कोई सवाल कर पाए।
 
 
भारतीय जनता पार्टी ने सरकार में आने से पहले कई वादे किए थे-
 
1.   उन्होंने कहा था कि नई सोच नई उम्मीद लेकर आएंगे
2.   अच्छे दिन आने वाले हैं
3.   सबका साथ सबका विकास
 
इन सब वादों को भूलते हुए भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने देश को असल में दिया क्या –
 
1.   हैदराबाद में बीजेपी ने एक दलित छात्र रोहित वेमुला को आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया
2.   दादरी में एक अल्पसंख्यक को बिना किसी वजह के मौत के घाट उतार दिया जाता है
3.   इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में एक छात्रा को एबीवीपी के छात्र सिर्फ़ इसलिए गाली-गलौच करते हैं क्योंकि उस छात्रा ने उनके ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया था
4.   जेएनयू में राष्ट्र विरोधी नारे लगते हैं और शिक्षण संस्थान का माहौल नफ़रत में तब्दील कर दिया जाता है
5.   बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्राओं पर अत्याचार किया जाता है
6.   जादवपुर विश्वविद्यालय में राष्ट्रवाद के नाम पर माहौल ख़राब किया जाता है
7.   दिल्ली के रामजस कॉलेज में एबीवीपी के छात्र पुलिस की मदद से एक कार्यक्रम को हिंसात्मक बना देते हैं।
8.   जयपुर में संजय लीला भंसाली की फ़िल्म के सेट पर जाकर कर्नी सेना ने हिंसा की और सेट को जला दिया,
9.   गौरक्षा के नाम पर उधमपुर में एक व्यक्ति की हत्या, ख़िरकिया मध्यप्रदेश में एक दम्पत्ति पर हमला, कर्नाटका में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा दलित परिवार पर अत्याचार, राजस्थान में एक मुस्लिम व्यापारी की हत्या
10. उना में गौरक्षा के नाम पर दलित युवकों को लाठी-डंडों और लोहे की रॉड से बुरी तरह से पीटा जाता है
11. इसी साल अप्रैल के महीने में पहलू ख़ान नाम के व्यक्ति की जयपुर हाईवे पर गौरक्षा के नाम पर हत्या कर दी जाती है और उसके बाद दिल्ली के कालकाजी में तीन लोगों को भी गौरक्षा के नाम पर पीटा जाता है
12. सहारनपुर में जातिआधारित दंगे करा दिए जाते हैं।    
 
यह सब भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने पिछले तीन सालों में देश को दिया है।
 
 
भारतीय जनता पार्टी की इस सरकार ने देश की जनता को सिर्फ़ और सिर्फ़ जुमले दिए हैं और नफ़रत का ऐसा माहौल दिया है जहां जो भी आवाज़ भाजपा के खिलाफ़ उठती है उसे कुचल दिया जाता है। ग़रीब किसानों, युवाओं को नौकरियां, जीडीपी, विकास, मंहगाई और शिक्षा पर भाजपा बात ही नहीं करना चाहती है क्योंकि हक़ीक़त यह है कि इन दिशाओं में भाजपा सरकार ने कोई काम ही नहीं किया है।

Related Story

Make a Donation