Skip to main content of main site

वरिष्ठ आप नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से की पुलिस की बर्बरता की शिकायत

Date 23 Feb 2017

छत्तीसगढ़ और गुजरात में आदिवासियों और किसानों पर हुई बर्बरता के मुद्दे पर 'आप' ने  लिखा NHRC को ख़त

आप नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से की पुलिस की बर्बरता की शिकायत 
दिल्ली सरकार में मंत्री और छत्तीसगढ़-गुजरात में 'आप' के प्रभारी श्री गोपाल राय ने गुजरात में किसानों पर और छत्तीसगढ़ में आदिवासियों पर हुई पुलिस की बर्बरता के मुद्दे को केंद्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष पत्र लिखकर रखा है। आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में पुलिस ने एक आदीवासी परिवार समेत गांव के लोगों को बर्बरता पूर्ण तरीक़े से पीटा और एक महिला समेत दो लोगों की नृशंस हत्या भी कर दी। तो वहीं गुजरात के साणंद ज़िले में पिछले 20 सालों से खेती करने के लिए पानी की  मांग कर रहे किसानों को भी पुलिस ने बर्बरता पूर्ण तरीक़े से पीटा है। 

आपको बता दें कि गुजरात के साणंद ज़िले में 32 गांव के किसान पिछले बीस सालों से खेती के लिए नज़दीक की एक नहर से पानी की मांग कर रहे हैं लेकिन किसानों को पानी देना तो दूर राज्य सरकार की पुलिस ने किसानों को बुरी तरह से पीटा जिसमें बुज़ुर्ग, युवा और महिलाएं भी रहीं। दूसरी तरफ़ छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले के गमपुर गांव में एक आदीवासी परिवार पर पुलिस की बर्बरता टूटी और दो लोगों की नृशंस हत्या भी कर दी गई। पूरे गांव को पुलिस की बर्बरता का शिकार होना पड़ा। प्रशासन दोषी पुलिसवालों के ख़िलाफ़ मुकदमा कर दर्ज़ करने के लिए तैयार नहीं है। आम आदमी पार्टी पीड़ितों का साथ देते हुए कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए उनका साथ दे रही है और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से भी यह दरख्वास्त करती है कि इन घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए ना केवल पीड़ितों को हरसंभव मदद दे बल्कि दोषियों को सज़ा दिलवाने में भी अग्रणी भूमिका अदा करे। 

इस प्रैस नोट के साथ राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को लिखे वो दोनों ख़त भी संलघ्न किए जा रहे है जिसमें आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने आयोग को दोनों राज्यों की घटनाओं के संदर्भ में विस्तार से अवगत कराया है।

 

Related Story

Make a Donation