Skip to main content of main site

नगर निगम चुनाव से पहले कांग्रेस-बीजेपी की अंदरुनी टूटन लगातार शिखर की ओर

नगर निगम चुनाव से पहले कांग्रेस-बीजेपी की अंदरुनी टूटन लगातार शिखर की ओर

शुक्रवार को 10 कांग्रेस पदाधिकारियों समेत बीजेपी कार्यकर्ता भी हुए AAP में शामिल

कांग्रेस और बीजेपी में नहीं होता ज़मीनी कार्यकर्ता का सम्मान

दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में में बिखराव और अंदरूनी टूटन लगातार बढ़ती जा रही है। हर रोज़ उनके ज़मीनी कार्यकर्ता और पदाधिकारी अपनी-अपनी पार्टियों से अलग होकर आम आदमी पार्टी का दामन थाम रहे हैं। शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी के 10 पदाधिकारी और कार्यकर्ता एंव तीन बीजेपी के ज़मीनी कार्यकर्ताओं ने आम आदमी पार्टी की सदस्यता ली। कांग्रेस और बीजेपी अपने ज़मीनी कार्यकर्ताओं का सम्मान नहीं करती और जिसका नतीजा यह निकल रहा है कि उनका संगठन लगातार टूट रहा है।

पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉंफ्रेस करते हुए आम आदमी पार्टी के दिल्ली संयोजक दिलीप पांडे ने इन सभी कांग्रेस और बीजेपी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई और आम आदमी परिवार में इनका स्वागत किया। इस मौक पर प्रेस कॉंफ्रेस को सम्बोधित करते हुए पार्टी के दिल्ली संयोजक श्री पांडे ने कहा कि ‘यह हर रोज़ हो रहा है कि कांग्रेस और भाजपा के ज़मीनी कार्यकर्ता इन पार्टियों के चाल-चरित्र से परेशान होकर पार्टी छोड़ रहे हैं और आम आदमी पार्टी का रुख कर रहे हैं। वो ज़मीनी कार्यकर्ता जो इन पार्टियों में सिर्फ़ इसलिए था कि ज़मीन पर काम करके जनता की सेवा की जा सके लेकिन इन पार्टियों का असली चेहरा देखकर ये कार्यकर्ता अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे हैं और बड़ा निराश होकर उन पार्टियों को अलविदा कह रहे हैं। आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली में बेहतरीन कार्य कर रही है, जनहित के काम कर रही है और पूरी तरह से जनता को समर्पित सरकार है लिहाज़ा ये कांगेस और भाजपा से अलग होकर ये कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी की जनहितकारी सोच में शामिल हो रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी की अगर बात की जाए तो उनके नेता कार्यकर्ता विरोधी है ये तो हर रोज़ साबित हो रहा है जब उनके कार्यकर्ता और पदाधिकारी रोज़ पार्टी छोड़-छोड़ कर जा रहे हैं क्योंकि वहां आवाज़ पैसे वालों की सुनी जाती है। कांग्रेस के पूर्व सांसद और दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता महाबल मिश्रा जी एक कार्यकर्ता से यह कहते हुए नज़र आते हैं कि राहुल गांधी जी ने अपने ड्राइवर के बेटे को टिकट दिया है तो राहुल गांधी ही उन्हें जितवा देंगे, इसी वजह से एक ज़मीनी कार्यकर्ता की टिकट कटने पर बड़ा असहाय होते हुए महाबल मिश्रा जी अपने नेता राहुल गांधी जी के लिए बड़ी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए कहते हैं कि दिल्ली में कांग्रेस को शून्य पर पहुंचाने का श्रेय राहुल गांधी को ही जाता है। दूसरी ये बात कि कांग्रेस पार्टी के राजकुमार श्री राहुल गांधी बेशक दलितों के घर जाकर खाना खाकर ये दिखाने की कोशिश करें कि कांगेस पार्टी दलितों के कल्याण के बारे में सोचती है लेकिन हक़ीक़त यह है कि इनकी पार्टी के दिल्ली मुखिया श्री अजय माकन जी अपनी ही पार्टी के एक दलित कार्यकर्ता के साथ उसे गालियां देते हुए बेहद अभद्र भाषा में बात करते हैं। और तीसरा यह कि कांग्रेस पार्टी महिला विरोधी भी है क्योंकि आज हमारी पार्टी की सदस्यता लेने वालीं रचना सचदेवा जी को एक बंद कमरे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने किस तरह टॉर्चर किया था उसकी शिकायत रचना सचदेवा जी ने पुलिस से की है। तो यह कांग्रेस का असली चेहरा है जिसकी वजह से कांग्रेस पार्टी अंदर से खोखली होती जा रही है।  

शुक्रवार को आम आदमी पार्टी में शामिल हुए नाम –

1.       रचना सचदेवा, ज़िला महिला अध्यक्ष कांग्रेस, बाबरपुर

2.       रमेश सचदेवा, कांग्रेस

3.       राजकुमार गुप्ता, जन शिकायत प्रकोष्ठ कांग्रेस

4.       श्री तिलक राज क्वात्रा, ब्लॉक अध्यक्ष कांग्रेस

5.       सुदेश रानी, दिल्ली प्रदेश सचिव महिला कांग्रेस

6.       कमलेश रानी, सदस्य महिला कांग्रेस

7.       अशोक कुमार, कांग्रेस

8.       ललित गुप्ता, कांग्रेस

9.       राजो सागर, कांगेस

10.   जहांनारा, कांग्रेस

11.   संजय कुमार, भाजपा

12.   सन्नी कुमार, भाजपा

13.   नवीन कुमार, भाजपा

14.   अमित भईया, आज़ाद उम्मीदवार नगर निगम 

Related Story

Make a Donation