Skip to main content of main site

आम आदमी पार्टी किसान मजदूरों की जल हत्या नहीं होने देगी

प्रेस विज्ञप्ति: 28 जुलाई 2017
 
सरदार सरोवर के मध्य प्रदेश के 1 लाख विस्थापितों को बिना पुनर्वास डुबोने की तैयारी
 
आम आदमी पार्टी किसान मजदूरों की जल हत्या नहीं होने देगी
 
सांसद भगवंत मान की अध्यक्षता में राष्ट्रीय दल नर्मदा घाटी की यात्रा करेगा
 
1 अगस्त से नर्मदा घाटी में 1 लाख विस्थापितों को पुलिस बल से उजाड़कर इस देश मे विस्थापन की सबसे बड़ी त्रासदी खड़ी की जाएगी। उल्लेखनीय है कि सरदार सरोवर बाँध के सभी दरवाजे बंद कर दिए गए हैं जिस कारण जलस्तर 122 मीटर से बढ़कर 139 मीटर होने से  मध्यप्रदेश के 193 गाँव डूब में आयेंगे। वर्तमान में सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 18,000 से ज्यादा परिवारों (लगभग 1 लाख लोग) का पुनर्वास नहीं हुआ है । 
 
आज पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और मध्य प्रदेश के संयोजक श्री आलोक अग्रवाल ने कहा कि विस्थापन से जूझ रहे किसान, मजदूर, मछुवारे, केवट, आदिवासियों को हटाने के लिए सरकार लगातार झूठे प्रलोभन और धमकी दे रही है। पुर्नवास स्थलों पर जमीन उबड़ खाबड़ है, पीने और घर बनाने के पानी की सुविधाए नही हैं, ड्रेनेज नहीं है जिस कारण प्लाट में पानी भर जाता है, बरसात में मकान तोड़कर दूसरा घर बनाना संभव नही है, जो लोग व्यापार कर रहे है उन्हें व्यापार के लिए कोई सुविधा नहीं दी गयी है।
 
अब सरकार लोगो को पुनर्वास के नाम पर पक्के घरों से निकाल कर 180 वर्ग फिट के टिन शेड में रहने को मजबूर किया जा रहा है वो भी भरी बरसात में । प्रभावितो को मिलने वाली मुआवजे की राशि को लेकर भी अधिकारी बिचौलियो के माध्यम से जमकर भ्रष्टाचार कर रहे है ।
 
सरकार द्वारा भरवाए जा रहे सहमति पत्रों पर भी मात्र 7 प्रतिशत लोगो द्वारा हस्ताक्षर किया जाना इस बात का सबूत है कि लोग सरकार द्वारा निर्मित पुनर्वास स्थलों पर सुविधाएं नहीं होने के कारण नहीं जाना चाह रहे है।  इसके विरोध में 7 जुलाई से 50 से अधिक गाँवों में विस्थापित क्रमिक अनशन कर रहे है । 27 ता से नर्मदा आंदोलन की नेत्री मेधा पाटकर ने अनिश्चितकालीन अनशन प्रारम्भ कर दिया है।
 
श्री अग्रवाल ने कहा कि सरकार ने झूठे हलफनामे माननीय सर्वोच्च न्यायालय में दिए है । पुर्नवास स्थलों पर कोई सुविधा न होते हुए भी लोगो पर घर तोड़कर पुर्नवास स्थल पर जाने के लिए मजबूर करना  सर्वोच्च न्यायालय के वर्ष 2000 और 2005 के आदेशों का खुला उल्लंघन है, जो कहते हैं कि डूब आने के काम से कम 6 माह पहले सभी विस्थापितों का सम्पूर्ण पुनर्वास होना जरूरी है।
 
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान डूब प्रभावितो से कोई संवाद भी नहीं कर रहे है बल्कि पुलिसिया कार्यवाही के नाम पर लोगो को डराया जा रहा है । सरदार सरोवर डूब से प्रभावित बिना संपूर्ण पुनर्वास लगभग 1 लाख लोगो को बिना किसी तैयारी के हटाये जाने की तैयारी है।
 
पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री आशुतोष ने कहा कि 12 अगस्त को मोदीजी 12 मुख्यमंत्री और 2000 साधुओं के साथ बांध पर पूजा करेंगे। 1 अगस्त के बाद पुलिस बल से जबरदस्ती विस्थापितों को हटाया जायेगा। आम आदमी पार्टी इसका कड़ा विरोध करती है। गुजरात में भाजपा को चुनाव जिताने के लिये मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह मध्य प्रदेश के 1 लाख लोगों की बलि देने को तैयार हैं। 
 
आम आदमी पार्टी का एक दल सांसद श्री भगवंत मान के नेतृत्व में नर्मदा घाटी के संघर्षरत विस्थापितों का साथ देने जायेगा। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि :
1. सरदार सरोवर में वर्तमान जल स्तर 122 मीटर के ऊपर न बढ़ाया जाये।
2. प्रभावित क्षेत्र से तत्काल पुलिस बल हटाया जाये.
3. सभी विस्थापितों का पुनर्वास नीति और सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार पुनर्वास करने के बाद ही बांध में पानी भरा जाये।

Related Story

Make a Donation